logo

Biswi Sadi Mein Bharat Chin Sambandh (In Hindi)

Keshav Mishra and Pravin Bhardwaj, ISBN 13: 9789380222899, Year : 2016, Rs. 990 Rs. 743 (Free shipping within India only. No extras for postage and handling. )


भारत और चीन के आपसी संबंध न केवल सदियों से रहे हैं,बल्कि सहस्राब्दियों से बहुत ही मित्रातापूर्ण और आदान-प्रदानकारक रहे हैं। इस पुस्तक में, भारत एवं चीन की आजादी से पहले एवं आजादी के बाद बीसवीं शताब्दी के अंत तक आपसी संबंधो के बारे में एक विस्तृत विचार-विमर्श प्रस्तुत किया गया है। आजादी से पहले भारत एवं चीन के बीच बहुत ही घनिष्ठ संबंध रहे और दोनों देशों के क्रांतिकारी नेताओं के बीच समझबूझ भरा गहरा संबंध रहा। डॉ सन यात सेन ने कहा था-आनेवाली सदी भारत और चीन की सदी के नाम जाना जाएगा। लेकिन चीनी आमजनता के साथ भारत का तादात्म्य नहीं बन पाया। यह अलग बात है कि आजादी के बाद चीन की विस्तारवादी नीति के कारण भारत और चीन के बीच संबंध बहुत ही खराब हो गए। इसके जड़ में शायद चीन का महाशक्ति के रूप में अपनी जोरदार पहचान बनाने की जद्दोजहद हो। लेकिन भारत के लिए चीन की नीति दोहरे घाव करने वाली बन गई।